There are no breaking news at the moment

Friends and Comrades,

There is a situation developing across many cities and towns post the Pulwama attack and killings. While we all condemn the killings and terror acts, we also have a responsibility to make sure that the situation is not allowed to turn against Muslims in general and Kashmiris in particular. Already violence is being reported from several towns and some cities. Kindly move around and be watchful of any effort by organised groups, trying to create such frenzy. Report the incident to police, state administration, media, other movements and groups around the area and social media. Until we all form a community to fight it today, we will allow the predetermined narrative to divide our country. Today we literally need a task force of peace loving people who can make bold and courageous interventions and stop any violence. Please do keep us in the loop if you come across any such incident.

As movement networks, NAPM, NFF, CNDP, PIPFPD, AIUFWP, JMACC, INSAF, NCDHR, DYAF, NDWU, NHF, PUCL, SNS, MKSS, PUDR, CMM, and other movements must step in and make our efforts visible to stop this polarisation and violence. Request everyone to issue similar calls in local languages too to movements and groups. We also request progressive and secular political parties to stand together and oppose all such communal and partisan efforts by right wing Hindutva outfits.

If you are willing to join and form a coordination on this, please send a message in the number/s below. please also add your name at the bottom and circulate to your friends and groups. We need to build confidence, we need to fight terror and violence!

Let us not lose more people to hatred and violence than we have lost in Kashmir – be it armed men or civilians…

1. Pakistan India People’s Forum for Peace & Democracy
2. National Alliance of People’s Movements
3. All India Union of Forest Working People
4. National Fishworkers Forum
5. Jharkhand Mines Area Coordination Commitee
6. National Handloom Weavers Federation
7. ANHAD
8. Citizens for Democracy
9. People’s Union for Civil Liberties
10. Delhi Solidarity Group
11. Delhi Young Artists Forum
12. Mazdoot Kisan Shakti Sangattan
13. National Campaign for Dalit Human Rights
14. All India Students Association
15. All India Progressive Womens Association
16. Revolutionary Youth Association
17. New Trade Union Initiative
18. All India People’s Forum

9868165471
9820749204
9650015257

दोस्तों और साथियों,

पुलवामा हमले और हत्याओं के बाद देश कई शहरों और कस्बों में नकारात्मक स्थिति विकसित हो रही है। जबकि हम सभी हत्याओं और आतंकी कृत्यों की निंदा करते हैं, हमारी यह भी जिम्मेदारी है कि हम यह सुनिश्चित करें कि स्थिति विशेष रूप से मुसलमानों और सामान्य रूप से कश्मीरियों के विरुद्ध जाने ना दिया जाये. पहले से ही कई शहरों के कुछ कस्बों से हिंसा की सूचना मिल रही है। कृपया इस तरह के उन्माद पैदा करने की कोशिश कर रहे संगठित समूहों पर नज़र रखे और सतर्क रहें। घटना की सूचना पुलिस, राज्य प्रशासन, मीडिया, क्षेत्र और सोशल मीडिया के आसपास के अन्य आंदोलनों और समूहों को दें। जब तक हम सभी आज इसे लड़ने के लिए एक समुदाय नहीं बनते हैं, तब तक हम पूर्व निर्धारित कथा को हमारे देश को विभाजित करने की अनुमति देंगे। आज हमें सचमुच शांतिप्रिय लोगों की एक टास्क फोर्स की आवश्यकता है जो साहसिक और साहसी हस्तक्षेप कर सकें और किसी भी हिंसा को रोक सकें। अगर आप इस तरह की किसी भी घटना के सामने आते हैं, तो कृपया हमें सूचित करें।

आंदोलन नेटवर्कों के रूप में, NAPM, NFF, CNDP, PIPFPD, AIUFWP, JMACC, INSAF, NCDHR, DYAF, NDWU, NHF, PUCL, SNS, MKSS, PUDR, CMM, और अन्य आन्दोलनों को ध्रुवीकरण और हिंसा के खिलाफ कदम उठाने चाहिए और इसे रोकने के लिए हमारे प्रयासों को दिखाई देना चाहिए। । सभी से अनुरोध है कि स्थानीय भाषाओं में भी इसी तरह के कॉल को आंदोलनों और समूहों में जारी करें। हम प्रगतिशील और धर्मनिरपेक्ष राजनीतिक दलों से भी अनुरोध करते हैं कि वे दक्षिणपंथी हिंदुत्व संगठनों द्वारा ऐसे सभी सांप्रदायिक और पक्षपातपूर्ण प्रयासों का विरोध करें।

यदि आप इसमें शामिल होने और समन्वय बनाने के इच्छुक हैं, तो कृपया नीचे दिए गए नंबर पर एक संदेश भेजें। कृपया नीचे भी अपना नाम जोड़ें और अपने मित्रों और समूहों को प्रसारित करें। हमें आत्मविश्वास बनाने की जरूरत है, हमें आतंक और हिंसा से लड़ने की जरूरत है!

आइए हम कश्मीर में खोए लोगों की तुलना में नफरत और हिंसा से अधिक लोगों को न खोएं – चाहे वह सशस्त्र व्यक्ति हों या नागरिक …

१. पाकिस्तान-इंडिया पीपल्स फोरम फर पीस एंड डेमोक्रेसी
२. जन आंदोलनों का राष्ट्रीय समन्वय (नापम)
३. राष्ट्रीय मछवारा मंच
४. अखिल भारतीय वन-जन श्रमजीवी यूनियन
५. झारखंड माइंज़ एरिया कोऑर्डिनेशन कमिटी
६. राष्ट्रीय चेंनेता समाख्या
७. Anhad अंहद
८. सिटिज़ेंज़ फ़ोर डिमॉक्रेसी
९. पीपल्ज़ यूनियन फ़ोर सिविल लिबेरतीस
१०. दिल्ली समर्थक समूह
११. दिल्ली यंग आर्टिस्ट्स फ़ोरम
१२. मज़दूर किसान शक्ति संघटन
१३. नैशनल कैम्पेन फ़ोर दलित ह्यूमन राइट्स
१४. ऑल इंडिया स्टूडेंट्स असोसीएशन
१५. ऑल इंडिया प्रग्रेसिव विमेंस असोसीएशन
१६. रेवलूशनेरी यूथ असोसीएशन
१७. न्यू ट्रेड यूनियन इनिशटिव
१८. ऑल इंडिया पीपल्ज़ फ़ोरम

9868165471
9820749204
9650015257

2 Comments

  1. Jamaluddinsahib says:

    Good, for the nation

  2. Pingback: Red News | Protestation